Wednesday, December 1, 2021

Bihar News: गार्ड ने अस्पताल सुपरवाइजर को एक बोतल पानी के लिए उतारा मौत के घाट

जमुई
बिहार के जमुई जिले में एक 40 वर्षीय व्यक्ति को अपने अधीनस्थ से पीने के लिए पानी की बोतल लाने के लिए कहना भारी पड़ गया। उसे इसकी कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। वहीं आरोपी गार्ड फरार है। उसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

मृतक की पहचान अरवल जिले के मेंहदिया गांव निवासी छकौड़ी साव के 33 वर्षीय पुत्र मिथलेश साव के रूप में हुई है। जानकारी के मुताबिक वह सिंह सर्विसेज नालंदा नामक कंपनी अंतर्गत तकरीबन डेढ़ वर्ष से रेफरल अस्पताल लक्ष्मीपुर में बतौर सुपरवाइजर का काम करता था। आरोपित गार्ड विजय भारती दुर्गापाड़ा समानता सिक्योरिटी एजेंसी पटना द्वारा रेफरल में कार्यरत है।

जानकारी के मुताबिक गार्ड विजय भारती ड्यूटी पर था। वह पानी पीने के लिए बोतल अपने रूम में रखता था, लेकिन किसी ने उसकी बोतल गायब कर दी। उसके बाद गार्ड विजय भारती ने सुपरवाइजर मिथलेश साव पर बोतल लेने का आरोप लगाते हुए बोतल देने को कहा। इसपर सुपरवाइजर ने बोतल नहीं लेने की बात कही। इसी को लेकर दोनों के बीच तू तू- मैं मैं हुई फिर मारपीट शुरू हो गई।

अस्पताल ले जाते वक्त सुपरवाइजर ने तोड़ा दम
हालांकि, मिथिलेश साह ने जमुई अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। मृतक मिथलेश अरवल जिले के गांव मुसोपुर मेहंदिया के रहने वाले थे। पुलिस के मुताबिक, घटना सुबह करीब 11.30 बजे हुई जब मृतक और आरोपी दोनों अस्पताल में ड्यूटी पर थे। भारती ने अपने सीनियर के फरमानों को नजरअंदाज किया और कथित तौर पर गालियां दीं, जिससे विवाद हुआ।

मामला मेरे संज्ञान में आया है। पानी के बोतल को लेकर हाथापाई के दौरान अंदरूनी चोट लगने से मौत होने की बातें सामने आ रही हैं। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है। मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।’– डा. राकेश कुमार, एसडीपीओ जमुई।

Related Articles

कमेंट करे

कमेंट करें!
अपना नाम बताये

हमसे जुड़े

4,398फैंसलाइक करें
2,488फॉलोवरफॉलो करें
1,833सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें
- Advertisement -spot_img

ताज़ा खबरे